Top 5 Best Kids Horror Stories in Hindi | बच्चों की डरावनी कहानियां हिंदी में

आज की कहानी Kids Horror Stories in Hindi छोटे बच्चों केलिए एक बहुत ही रोचक और मजेदार कहानी होने बाला हे। क्यूंकि ये कहानी एक रूप कथा की कहानी हे।

Kids Horror Stories in Hindi

आज की कहानी Kids Horror Stories in Hindi एक बूढ़ी चुड़ैल की हे और बह चुड़ैल एक हजारो सालो से जिन्दा हे और बह बूढ़ी चुड़ैल और भी एक हजारो साल तक जिन्दा रहने केलिए उस बूढ़ी चुड़ैल को आमाबास की रात एक सुन्दर लड़की की खून पीना पड़ेगा।

इसलिए बूढ़ी चुड़ैल ने जंगलो से एक लकड़हारा की लड़की गुलाबी को पकड़ के आपने मयाबी जादू से गुलाबी को इंसान से गुलाब की पेड़ बनाकर बंदी बनालिया।

तो बच्चों, उसके बाद किया हुआ गुलाबी का? किया बह बूढ़ी चुड़ैल गुलाबी को मार देगा ना कोई आकर उसे बूढ़ी चुड़ैल को मारकर उसे बचाकर लेकर जायेगा? तो चलिए जान लेते हे?

Fairy Tale Story in Hindi | चुड़ैल की कहानी #Part 1

Top 5 Best Kids Horror Stories in Hindi | बच्चों की डरावनी कहानियां हिंदी में
Kids Horror Stories in Hindi

एक बार की बात हे, एक बहुत बड़ा घना जंगल में एक झोपड़ी में एक बूढ़ी चुड़ैल रहता था। दोपहर का बक्त बह बूढ़ी चुड़ैल जंगल की रास्ते में आकर कहने लगा,

हजारों साल में इंसानो का खून पि कर जिन्दा हु। मन की इच्छा हे एक हिरन का रूप धारन करूँगा और खूबसूरत लड़की की तरह सजूंगा।

और रास्ते में जो इंसान आएगा उसे भुला कर फुसला कर उसका गर्दन तोड़कर मजे से खून पिऊंगा। ये कहते कहते बूढ़ी चुड़ैल जोर जोर से हसने लगा।

बूढ़ी चुड़ैल ने देखा की एक लड़की जंगल की तरफ आ रहा हे और उसे देखकर बह बूढ़ी चुड़ैल पेड़ के पीछे चुप गया।बूढ़ी चुड़ैल छुपके देखा की एक लकड़हारा की लड़की जंगल की रस्ते से जा रहा हे।

आपको बता दू की बह एक लकड़हारा की लड़की था जो जंगलों में लकड़ी इकठ्ठा करके उसे बाजार में बेचकर अपना पिताजी का थोड़ा मदत करता हे। और उसका नाम गुलाबी हे और बह दिखने में बहुत ही खूबसूरत हे।

और बूढ़ी चुड़ैल मन ही मन में सोचने लगा, इतना खूबसूरत लड़की, देखने में बहुत ही सुन्दर हे, अगर आमाबास की रात को ये लड़की का गर्दन तोड़ कर खून पिऊंगा तो और एक हजार साल जिन्दा रहूँगा।

उसे आपने बस में करने केलिए बह बूढ़ी चुड़ैल ने जंगल के बिच एक मयाबी कुटिया बनाया। तभी लकड़हारा की लड़की जंगलों में लकड़ी इकट्ठा करते करते उसे बहुत पियास लगा हे।

और बह पानी की तलाश करते हुए बूढ़ी चुड़ैल की मयाबी कुटिया में आकर सोचा आरे इतना घना जंगलो के बिच ये कुटिया? ज्यादा कुछ ना सोचते हुए कहा की, कुटिया में कोई हे?

तभी मयाबी कुटिया से बह बूढ़ी चुड़ैल ने अपनी मयाबी शक्ति से एक बूढ़ी औरत का रूप धारन करके उस लड़के पास आया और कहा तुम कौन बेटा?

इतना घना जंगलो में तुमको किया चाहिए? लड़की ने कहा मेरा नाम गुलाबी हे, में इस जंगलों में लकड़ी इकठ्ठा करता हु। मुझे बहुत ही पियास लगा हे थोड़ा पानी पिलायेंगे दादीमाँ?

तुम मुझे दादीमाँ कहा और में तुम्हे पानी ना दू ये हो सकता हे ये लो बेटा पानी पि लो। जैसा ही गुलाबी ने पानी पिया बह तुरंत इंसान से एक गुलाब पेड़ में बदल गया।

Fairy Tale Story in Hindi | चुड़ैल की कहानी #Part 2

बूढ़ी चुड़ैल जोर जोर से हस्ते हस्ते आपने मयाबी शक्ति से दुबारा चुड़ैल की रूप धारन करके कहा, आमाबास की रात तक ऐसा ही गुलाब की पेड़ बनकर रहो गुलाबी।

उसके बाद फिर से बो मंत्र बाला पानी तुम्हारा शरीर में छिड़क दूंगा उसके बाद तुम फिर से गुलाब पेड़ से इंसान की रूप में आ जाओगे और फिर आमाबास की रात को तुम्हारा गर्दन तोड़कर तुम्हारा खून पिऊंगा कहे कर हसने लगा।

बूढ़ी चुड़ैल ने कहा की सुबह से साम होने को आया अभी तक कोई भी एक इंसांन इधर नहीं आया, अब घर में बैठकर इंतजार करने से अच्छा जंगल में जाता हु सईद कोई शिकार मिल जाये। ये कहते हुए चुड़ैल ने जंगल की तरफ चल दिया।

इधर गुलाबी बहुत ही रो रहा था तभी अचानक एक मयना पंछी आया और कहा ओ गुलाबी सुंदरी मुझसे बात करो में तुम्हारा दोस्त मयना हु।

गुलाबी ने कहा, किया और बात करेगा दोस्त, देखो ना बह बूढ़ी चुड़ैल मेरा किया हालत किया हे। तभी मयना ने कहा बह शैतानी बूढ़ी चुड़ैल को सबक सीखना ही पड़ेगा।

गुलाबी ने कहा, लेकिन कब आमाबास की रात आते ही मेरा गर्दन तोड़ देगा। मयना ने कहा, गर्दन तोड़ेगा इतना आसान नहीं हे मेरा दोस्त उससे पहले ही उसका खेल ख़तम हो जायेगा तुम देख लेना।

गुलाबी ने कहा, हाँ तुम सही बोल रहे हो मुझे भी बही लगता हे। तभी मयना ने कहा, में एक काम करता हु, जब बूढ़ी चुड़ैल यहाँ नहीं रहेगा तब,

एक शिकारी को भुला भालाकार मेरा पीछे पीछे यहाँ लेकर आऊंगा उसके बाद तुम उनको तुम्हारा मन की परेशानी की बारेमे बताना। देखना शिकारी कोई ना कोई एक बंदोबस्त करेगा। में अभी जा रहा हु दोस्त बाद में मिलते हे।

उधर बह बूढ़ी चुड़ैल जंगलों में इधर उधर इंसानो को खोजने लगा और कहने लगा इतना बड़ा जंगल में एक भी इंसान दिखाई नहीं दे रहा हे।

ना इधर नहीं उधर जाता हु आज एक इंसान का खून पीना ही पड़ेगा। ये कहते हुए बह बूढ़ी चुड़ैल उत्तर दिशा से जंगलो की पश्चिम दिशा की तरफ चला गया।

तभी मयना पंछी बही एक पेड़ में बैठा था और देखा की एक शिकारी उसी रास्ते से आ रहा हे और आपने आप से कहने लगा कंधे पे तीर और देखने में बहुत अच्छे हे। हम निश्चित हे की ये शिकारी का मन भी बहुत अच्छा होगा।

शिकारी पैर के पास आकर मयना को देखकर कहा, अरे कितना खूबसूरत पंछी हे ना, नहीं नहीं उसे हम नहीं मरूंगा उसे हम पकड़ कर आपने पास रख दूंगा।

ये बोलते ही मयना पंछी ने पेड़ से उड़ने लगा और शिकारी उसका पीछे पीछे भागने लगा। मयना पंछी उड़ते उड़ते गुलाबी के पास आ गया और साथ में शिकारी भी बहा पहुंच गया।

Fairy Tale Story in Hindi | चुड़ैल की कहानी #Part 3

Top 5 Best Kids Horror Stories in Hindi | बच्चों की डरावनी कहानियां हिंदी में
Kids Horror Stories in Hindi

बहा पहुंचते ही मयना पंछी ने गुलाबी को पुकार ने लगा, ओ गुलाबी ओ गुलाबी देखो कौन आया हे। अब तुम तुम्हारी दुःख की बारेमे बताओ।

शिकारी ने कहा, पंछी इंसान की तरह बात कर रहा हे और पेड़ को भी बात कहने केलिए कहे रहा हे। तब गुलाबी ने कहा, तुम जो सोच रहे हो में बह नहीं हु, में एक लकड़हारा की बेटी हु और मेरा नाम गुलाबी।

शिकारी ने कहा, तो तुम्हारी ऐसी हालत कैसे हुआ? किसीने श्रॉफ दिया हे? गुलाबी ने कहा, नहीं किसीका श्रॉफ से नहीं ये सब एक शैतान बूढ़ी चुड़ैल का काम हे।

बह हमको पेड़ बनाके बंदी बनाकर रखा हे इसलिए की में भाग ना सकू। शिकारी ने गुस्से से कहा, कहा हे बह बूढ़ी चुड़ैल में अभी मेरी तीर से उसे मार डालूंगी।

मयना पंछी ने कहा, नहीं नहीं नहीं बह मयाबी हे उसे शक्ति से हम हारा नहीं पाएंगे, हमें बुध्दि से उसे हराना पड़ेगा। शिकारी ने कहा, फिर इसका उपाय किया हे?

गुलाबी ने कहा, इसा उपाय मुझे पता हे लेकिन आज नहीं बाद में बताऊंगा। तुम अभी यहाँ से भाग जाओ शिकारी। शिकारी ने कहा, क्यों, भागूंगा क्यों?

मयना पंछी ने कहा, अभी बह बूढ़ी चुड़ैल आ जायेगा। गुलाबी ने कहा, जाओ शिकारी जाओ कल जब बूढ़ी चुड़ैल शिकार करने जंगल में जायेगा तब आना लेकिन अभी तुम जल्दी से यहाँ से चला जाओ।

ये कहते हुए मयना और शिकारी बहा से जंगल की तरफ चला गया। जंगल में जाते ही मयना ने शिकारी को कहा इस पैर की छेद में तुम छुप जाओ और में उस छेद को बुनो मुनमुन लता से ढाक दूंगा।

शिकारी ने कहा क्यों पैर की छेद में क्यों बाहार तो अच्छा हवा चल रहा हे। मयना ने कहा इसलिए तो डर लग रहा हे बह चुड़ैल तुम्हारा शरीर का गंध पा कर तुरंत यहाँ आ जायेगा। और शिकारी उस पेड़ की छेद में छुप गया।

इधर उस चुड़ैल को इंसानो की गंध आते ही भागते भागते बह अपने मयाबी कुटिया की तरफ तुरंत चला गया।

Fairy Tale Story in Hindi | चुड़ैल की कहानी #Part 4

और बूढ़ी चुड़ैल कुटिया में पहुंच ते ही गुलाबी से पूछने लगा की, आरे गुलाबी यहाँ पर कोई इंसान आया था किया? गुलाबी ने कहा, नहीं तो यहाँ पे कोई भी नहीं आया।

बूढ़ी चुड़ैल ने कहा, तू झूट बोल रहा हे। सिर्फ इंसान ही नहीं बह एक आदमी हे में बह भी समझ रहा हु और तू कहे रहा हे कोई नहीं आया? तू मुझसे झूट बोल रहा हे।

गुलाबी ने कहा, अगर में तुमसे झूट बोल रहा हु तो तुम खुद ढूंढ कर देखो ना। बूढ़ी चुड़ैल ने कहा, मुझे तो ढूंढ ही लूंगा और तेरी मरने की समय जल्दी ही आने बाला हे।

बिच में सिर्फ और एक रात बाकि उसके बाद ही आमाबास की रात उसी रात तेरी आखड़ी रात। ये कहकर बूढ़ी चुड़ैल ने जोर जोर से हसने लगा।

अगले दिन सुबह, बूढ़ी चुड़ैल मयाबी कुटिया से निकलकर उत्तर दिशा की तरफ शिकार करने चला गया। जंगल की तरफ जाते ही मयना ने चुड़ैल को कहा, दादीमाँ सुबह सुबह किसीको ढूंढ रहे हो?

चुड़ैल ने कहा, हाँ ढूंढ रहा हु तेरी शिकारी को? मयना ने चुड़ैल को कहा, ठीक ही बोले हो सच में मुझे मारने एक शिकारी आया था और बह उत्तर दिशा की तरफ चला गया।

तुमने बहुत देर कर दिया क्यूंकि अभी बह सईद नदी की किनारे तक पहुंच गया। चुड़ैल ने कहा, नदी की किनारे पहुंचने में मुझे और कितना देर लगेगा में अभी जाकर उसका गर्दन तोड़ता हु।

ये कहते हुए बूढ़ी चुड़ैल ने हिरन का रूप धारन करके तेजी से भागकर बहा से चला गया। तभी मयना ने हस्ते हुए कहा, जाओ मुर्ख चुड़ैल थोड़ा नदीका हवा खाकर आओ तबतक हम आपने काम को लिपट लेता हु।

उसके बाद मयना और शिकारी दोनों मिलकर गुलाबी के पास चला गया। गुलाबी ने शिकारी को कहा चुड़ैल की मयाबी कुटिया एक बोतल में मंत्र पानी हे उसे लेकर आओ और मेरी ऊपर उस पानी को छिड़क दो।

उधर बूढ़ी चुड़ैल नदी के किनारे पहुंचकर किसीको ना देखते हुए कहने लगा लगता हे पंछी ने मुझे मुर्ख बनाया। मुझे सही नहीं लग रहा हे मुझे अभी के अभी कुटिया में लौटना पड़ेगा।

Fairy Tale Story in Hindi | चुड़ैल की कहानी #Part 5

Top 5 Best Kids Horror Stories in Hindi | बच्चों की डरावनी कहानियां हिंदी में
Kids Horror Stories in Hindi

इधर शिकारी ने जैसा उस बॉटल की पानी को गुलाबी के ऊपर छिड़क दिया तुरंत गुलाबी पैर से इंसान बन गया। तभी शिकारी ने कहा तुम बहुत ही खूबसूरत हो।

तभी गुलाबी ने कहा शिकारी तुम भी तो बहुत सुन्दर हो। इन दोनों की बाते सुनकर मयना पंछी ने कहा अभी किया ये सब बात करने समय हे?

चुड़ैल को अगर सही बक्त पर सबक ना मिलेगा तो सब कुछ बर्बाद हो जायेगा। जो भी कुछ करना हे जल्दी करो नहीं तो बह चुड़ैल आ जायेगा।

गुलाबी शिकारी को लेकर मयाबी कुटिया के अंदर आया और कहा उस मंत्र बाला घड़ा को यहासे हटाओ तभी पाताल जाने की रास्ता मिलेगा।

शिकारी ने जैसा उस घड़ा को हटाया देखा की एक सीड़ी पाताल की अर जा रहा हे बह तीनो भी उसी सीड़ी से पाताल में चला गया।

गुलाबी ने कहा शिकारी देखो बह सांप ने हम सभी को देखकर फन उठाया। जैसा सांप ने अपना फन उठाया शिकारी ने आपने जेहेर बाला तीर से सांप को मार डाला।

गुलाबी ने शिकारी को कहा तुम सिर्फ दिखने में अच्छे नहीं हो एक अच्छा बीर भी हो और बह देखो मरा हुआ इंसान की खोपड़ी। साबधान शिकारी बह बूढ़ी चुड़ैल आ गया।

तभी बह बूढ़ी चुड़ैल ने कहा, मुझे पाता हे तुम लोग मिलकर कुछ ना कुछ करने की जोजना बना रहे हो। अब तुम लोग कहा भागोगे में सबकी गर्दन तोड़कर खून पिऊंगा ये कहते हुए चुड़ैल ने जोर जोर से हसने लगा।

तभी शिकारी ने आपने तीर निकला और चुड़ैल को मारने की कोसिस की लेकिन चुड़ैल पर तीर का कोई भी असर नहीं हुआ।

तभी चुड़ैल ने जैसा शिकारी को मारने केलिए आया तभी गुलाबी ने चुड़ैल को नहीं उस इंसान की खोपड़ी को तीर मारो शिकारी। गुलाबी की कहने पर शिकारी ने जैसे ही तीर मारा बह खोपड़ी टूट गया और बूढ़ी चुड़ैल जल कर रख हो गया।

उसके बाद गुलाबी और शिकारी शादी करके सुख शांति से दोनों घर संसार करने लगा और मयना पंछी भी उन दोनों के साथ ही रहने लगा।

निष्कर्ष

आज की कहानी से हमने किया सीखा – आज की कहानी से हमने सीखा की आपने दुश्मनो से और उसकी ताकत से कभी डरना नहीं बल्कि उसका कमीओ को ढूंढ कर आपने बुध्दि और हिम्मत से दुश्मनो को पराजित करना पड़ेगा।

तो बच्चों, आज की कहानी Kids Horror Stories in Hindi आपको केसा लगा निचे दिए हुए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताना।

Kids Horror Stories in Hindi FAQ

Q. Kids Horror Story in Hindi का मतलब किया हे?

A. Kids Horror Story in Hindi मतलब छोटे बच्चों की डरावनी कहानी हिंदी में।

Q. Fairy Tale Story in Hindi का मतलब किया हे?

A. fairy Tale story in Hindi का मतलव हिंदी में परी कथा।

Q. बच्चों की डरावनी कहानियां का इंग्लिश में किया अर्थ हे?

A. बच्चों की डरावनी कहानियां का इंग्लिश अर्थ हे Children’s Horror Story.

Q. Kids Horror Story in Hindi में लकड़हारा की लड़की की किया नाम था?

A. Kids Horror Story in Hindi में लकड़हारा की लड़की की नाम गुलाबी था।

Q. Kids Horror Story in Hindi में पंछी का किया नाम था?

A. Kids Horror Story in Hindi में पंछी का नाम मयना पंछी था।

ये भी पड़े
Rate this post

Leave a Comment