रुलाने वाली लव स्टोरी | अधूरे प्यार की कहानी | भरोसा Part 2

प्यार दुनिया का सबसे अच्छा और प्यारी शब्द हे। लेकिन आज की रुलाने वाली लव स्टोरी कहानी में इसी शब्द का एक दर्दनाक तस्बीर आपको देखने को मिलेगा जो नहीं होना चाहिए था लेकिन होने को कौन रोक सकता हे जो होना था बह तो होकर ही रहेगा।

रुलाने वाली लव स्टोरी | भरोसा

होने को टालना ये तो हमारे हाथों में नहीं होता हम फिर भी कोसिस करते ही रहते हे क्यूंकि हमारे दिल के अंदर जो आशा इच्छा हे हम उसीके सहारे जिन्दा रहते हे और सपना देखता हे।

आपने पिछले कहानी रुलाने वाली लव स्टोरी में पड़ा हे की, पायल और रिशव दोनों बचपन की दोस्त हे और बह दोनों एक ही स्कूल में पड़े और एक साथ ही बड़े हुए।

और दोनों की प्यार स्कूल से लेकर कॉलेज तक एक दूसरे को बहुत प्यार करने लगा था लेकिन उन दोनों की बिच ऐसा किया हुआ जो दोनों की ही आँखो से आशुओं की नदिया बेहेने लगा।

तो चलिए पायल और रिशव की आगे की कहानी के बारे में जान लेते हे। ओर अगर आप रुलाने वाली लव स्टोरी का पहेला भाग नहीं पड़ा हे तो निचे दिए लिंक पे क्लिक करके जरूर पड़ लेना।

👉 रुलाने वाली लव स्टोरी | Emotional Story in Hindi | भरोसा Part 1

दिल को झकझोर देने वाली कहानी | दर्द भरी लव स्टोरी

रुलाने वाली लव स्टोरी | अधूरे प्यार की कहानी | भरोसा Part 2
रुलाने वाली लव स्टोरी

पायल ने रिशव को साम को चार बजे फ़ोन करने की वादा किया था ताकि बह दोनों कही घूमने जाने की प्लान बना सके। क्यूंकि कॉलेज में पढ़ाई की बजह से बो दोनों बहुत दिनों से कही घूमने नहीं गया था।

लेकिन साम को पांच बज चुके थे पायल का कोई फ़ोन नहीं आया इसलिए रिशव ने ही पायल को फ़ोन किया मगर पायल ने रिशव की फ़ोन काट दिया।

रिशव को थोड़ा अजीब लगा फिर भी रिशव ने दुबारा फ़ोन किया लेकिन फिर से पायल ने फ़ोन कट दिया। रिशव ने सोचा की पायल तो ऐसा करता लेकिन आज?

कोई ना कोई तो बात हे। क्यूंकि रिशव पायल से मिलने केलिए बहुत ही उत्साहित था। तभी पायल की फ़ोन आया और कहा की, रिशव में आज कही घूमने केलिए नहीं जा सकती।

और सारे बात में तुम्हारे घर में आकर केहेती हु। ये कहकर पायल ने फ़ोन काट दिया। लेकिन रिशव बहुत खुश था क्यूंकि रिशव को लगा की आज पायल की आवाज में एक बेचैनी सी महसूस हो रहा हे मुझे।

सईद मुझसे मिलने के लिए बेचैनी रही होगी ये सोचते सोचते मन ही बहुत खुश था और हल्का सा होठो पर मुस्कान था। साम की अँधेरा होने आया था और तभी अचानक कोई रिशव की घर का दरबाजा खाट खटने लगा।

तभी रिशव की माँ ने रिशव से दरबाजा तक पहुंचने से पेहेले दरबाजा खोला और देखा की पायल दरबाजा पर खड़ी हे। रिशव की माँ ने कहा, केसा हो बेटा पायल? पायल ने रिशव की माँ को नमोस्ते करते हुए कहा में ठीक हु।

में थोड़ा रिशव से मिलने आया हु ये कहते हुए पायल ने सीधा रिशव की कामड़े में चला गया। पायल रिशव की कामड़े जाते ही जोर जोर से रोने लगा उसकी आँखो से आशुओं की मोटी-मोटी बुँदे गिर रहा था।

पायल की रोना देखकर रिशव हक्का-बक्का हो गया उसे समझमे में नहीं आ रहा था की अचानक पायल को हो किया गया हे और बह रो क्यों रो रहा हे?

रिशव ने सबसे पेहेले पायल की आँखो का आशु पोछे और कहा, पायल तुम किया हो गया और तुम अचानक रो क्यों रहे हो? सब ठीक हे ना?

रिशव की इतना कहते ही पायल टूट गया और बिना कुछ कहे और भी जोर जोर से रोने लगी। रिशव ने पायल को हाथ पकड़ा और आपने हाथों में पायल की हाथ रखकर कहा,

अब बताओं किया हुआ और इतना रो क्यों रही हो? तुम सोच भी नहीं सकते की तुम्हारा आशु देखकर मेरा दिल में किया गुजर रहा हे। प्लीज बताओ ना पायल किया हुआ?

उसके बाद पायल ने अपने आशु पोछा और आपने आपको संभल हुए रिशव का हाथ पकड़ ते हुए कहा, रिशव हमारे रिस्ता एहि तक थी, आज के बाद हम दोनों एक साथ कभी नहीं मिलेंगे

रुलाने वाली लव स्टोरी | अधूरे प्यार की कहानी | भरोसा Part 2
रुलाने वाली लव स्टोरी

पायल की ये बात सुनकर रिशव ऐसा झटका की 420 वोल्ट की बिजली उसके शरीर में से गुजर गया। रिशव ने पायल की हाथों को कस के पकड़ा।

और चिल्लाते हुए कहा, तुम पागल हो गयी हो किया, किया बोल रहे हो तुम्हे पाता हे, तुम होश में तो हो? पायल इतना रो रहा था की आप सोच भी नहीं सकते।

पायल को ऐसा लगरहा था की उसकी जिंदगी बही पर ख़तम हो जायेगा लेकिन खुद को समझते हुए रिशव की हाथों को पकड़ कर आपने पास बिस्तर में बिठाया और रोते हुए कहा,

रिशव में जो कहे रहा हु बह ध्यान से सुनो, में अब और तुम्हारा नहीं रहा, में किसी और की अमानत बनने जा रही हु

क्यूंकि पिताजी ने आज ही मेरा रिस्ता तय करके आया और ये रिश्ते से घर की सब बहुत खुश हे। रिशव पगली की तरह एक जिन्दा लाश बनकर पायल की बात सुन रहा था।

ऐसा लग रहा था की पायल की बात सुनकर रिशव बेहोश हो गया हे और उसे समझ में नहीं आ रहा था बह किया और कैसे बोले?

कुछ देर की बाद जब रिशव होश में आया तब पायल की हाथ पकड़ कर और पायल की आँखो में देखकर कहा, पायल तुम मेरे साथ मजाक कर रहे हो ना?

ये बात साफ थी की, रिशव का गले का कम्पन ही रिशव को बता रहा था की, पायल झूट नहीं बोल रहा हे और अब सब कुछ ख़तम हो चूका हे।

लेकिन पायल ने रिशव के सबलो की जबाब ना देते हुए आपने चहरे घूंघट से ढकते हुए कहा, मेरी बात तुम्हे मजाक लग रहा हे?

अचानक रिशव को ऐसा लगा की पूरा आसमान उसके सर पे टूट पड़ा हे और उसके आँखो के सामने पुरे कामड़े में अँधेरा छा गया हे।

रिशव ने आपने दोनों हाथों से आपने सर को पकड़ कर जमीन के तरफ एक नजर से देखने लगा। उसकी आँखो में सब कुछ धुंदला सा नजर आ रहा था।

उसे चारो तरफ सिर्फ अँधेरा ही अँधेरा नजर आ रहा था क्यूंकि उसकी आँखो से आँसुओं की नदियां बेहे रहा था। बह सोच भी नहीं पा रहा हे की जो उसकी बचपन का प्यार हे बह आज से बहुत दूर उसे अकेला छोड़ कर जा रहा हे।

और में कुछ ना कर सका। पायल रोते रोते बिस्तर से उठकर दरबाजे की तरफ बढ़ने लगी। लेकिन रिशव ने अभी भी जैसे बेहोसी की हालातों में बिस्तर में बैठा हुआ था।

अचानक रिशव बिस्तर से उठा और पायल को आवाज लगाए और दर्द भरी अशुओ के साथ होठो पे दर्द भरी मुस्कराहट के साथ पायल की तरफ देखकर कहा,

रुलाने वाली लव स्टोरी | अधूरे प्यार की कहानी | भरोसा Part 2
रुलाने वाली लव स्टोरी

तुम अब एहि कहने बाली थी ना की में तुम्हारी शादी में किसी प्रकार की बाधा ना डालू? पायल ने रिशव की बात सुनकर आपने सर को झुकाते हुए कहा,

हाँ रिशव मुझे तुमसे एहि कहना था की, मुझे तुम पर पूरा भारोसा हे की तुम कुछ भी ऐसा काम नहीं करोगे जिससे मेरा शादी में कोई बाधा आये और मेरी पिताजी का इज्जत मिट्टी में मिल जाये।

रिशव पायल की बात सुनकर हैरानी से पायल की तरफ देख रहा था और सोच रहा था की, एहि था उसकी और हमारी बचपन का प्यार।

उसे ये तक पाता नहीं हे की में उसे कितना प्यार करता हु और में ऐसा कुछ भी सोच भी नहीं सकता हु की पायल और उसकी घरबालो को मेरी बजह से कोई नुकसान पहुंचे। किया पायल रिशव को इतना जनता था?

पायल दरबाजे की जाते बक्त पायल ने रिशव की माँ को देख लिया तय और उसे समझ में आ गया था की रिशव की माँ ने हमारे सारि बाते सुन लिया था। पायल ने आपने सर झुका कर बहा से चला गया।

माँ ने रिशव की तरफ देखा और बेटे की दर्द देख ना पाकर रिशव की कामड़े से आपने कामड़े में चला गया। रिशव को जब जाया की चेहरा याद आया तो उसे उसकी सारे आशु नकली लगने लगी थी।

क्यूंकि पायल की चहरे पर शादी की ख़ुशी का झलक अब रिशव याद कर पा रहा था पायल की मज़बूरी ने सिर्फ रिशव दिल ही टुटा नहीं उसका भरोसा भी टूट चूका था।

निष्कर्ष

प्यार एक ऐसा चीज हे जिसे पाने केलिए इंसान के अंदर एक सच्चा दिल होना बहुत जरुरी हे क्यूंकि एक सच्चा प्यार उसके जीबन को बदलता हे।

आज की कहानी रुलाने वाली लव स्टोरी (Emotional Story in Hindi)में रिशव के साथ जो हुआ बह नहीं होना चाहिए था। क्यूंकि पायल ने कभी भी आपने पिताजी को रिशव के बारे में नहीं बताया था।

अगर बताया होता तो सईद एक उम्मीद की किरण दिखाई देता इसलिए रिशव लगा सईद पायल ही मुझे नहीं चाहता था। जो उस पर इतना भरोसा किया था बह ही उसकी भरोसा को तोड़ दिया।

रुलाने वाली लव स्टोरी FAQ

Q. अधूरे प्यार की कहानी का मतलब किया हे?

A. अधूरे प्यार की कहानी का मतलब हम एहि समझते हे की, जो दिलों जान से मोहब्बत करता हे लेकिन उसके प्यार मिलता नहीं हे बह एक दूसरे को बेपन्हा मोहब्बत करता हे,
मगर किसी ना किसी बजह से बह दोनों एक दूसरे से बिछड़ जाता हे हम उन प्यार को अधूरे प्यार की कहानी कहते हे।

Q. प्यार का दूसरा नाम किया हे?

A. प्यार का दूसरा नाम सम्मान।

Q. रुलाने वाली लव स्टोरी में पायल किस्से प्यार करता था?

A. रुलाने वाली लव स्टोरी में पायल रिशव को प्यार करता था।

Q. रुलाने वाले लव स्टोरी में पायल और रिशव क्यों अलग हुए?

A. रुलाने वाली लव स्टोरी में पायल और रिशव को अलग होना पड़ा क्यूंकि पायल की पिता जी ने पायल के लिए दूसरा रिस्ता तय कर चूका था।
और पायल नहीं चाहता था की उनकी पिता जी मान सम्मान पर को आँच आये इसलिए बह दोनों को अलग होना पड़ा।

Q. प्यार के रिस्ते में महत्ब पूर्ण चीज किया हे?

A. प्यार के रिस्ते में सबसे महत्ब पूर्ण चीज बिस्वास और भरोसा होता हे।

ये भी पड़े

Rate this post

1 thought on “रुलाने वाली लव स्टोरी | अधूरे प्यार की कहानी | भरोसा Part 2”

Leave a Comment