रुलाने वाली लव स्टोरी | Emotional Story in Hindi | भरोसा Part 1

आज कहानी रुलाने वाली लव स्टोरी दो मासूम बच्चे की हे जो बचपन से ही एक दूसरे से बेपन्हा मोहब्बत करता था। लेकिन दोनों की बिच ऐसा किया मज़बूरी आ गया था जो दोनों को एक दूसरे से अलग होना पड़ा।

रुलाने वाली लव स्टोरी | भरोसा

भरोसा और बिस्वास रिश्ते को जोड़ ने का एक डोरी की रूप में काम करते हे अगर रिश्ते में भरोसा और बिस्वास ही टूट जाता हे तब तब बह रिश्ते का कोई मतलब नहीं बनता।

लेकिन कभी कभी प्यार में भरोसा और बिस्वास होते हुए भी हमें एक दूसरे से बिछड़ ना पड़ता हे लेकिन क्यों ऐसा होता हे? ये सवाल सबकी मन में होता हे लेकिन ये सवालों की सही जबाब सबको पाता नहीं होता।

आज की कहानी रुलाने वाली लव स्टोरी (Emotional Story in Hindi) भी कुछ ऐसी हे जो प्यार में भरोसा और बिस्वास की एक सच्चा प्यार करने बाला पायल और रिशव की दुःख भरी दास्तान।

लेकिन सवाल उठता हे की, किया पायल और रिशव की रिस्ते में बिस्वास नहीं था किया उन दोनों एक दूसरे से भरोसा नहीं करता था?

आखिर ऐसा उन दोनों की रिस्ते के बिच ऐसा किया हुआ था जो एक दूसरे से जुदा होना पड़ा? तो चलिए जान लेते हे इन दोनों प्यार करने बालों की पूरी कहानी।

दिल को झकझोर देने वाली कहानी | Sad Love Story in Hindi

रुलाने वाली लव स्टोरी | Emotional Story in Hindi | भरोसा Part 1
रुलाने वाली लव स्टोरी

ये कहानी शुरू होती 2008 साल में पश्चिमबंगाल की एक छोटा से गांव में। जहाँ पायल और रिशव की दो परिवार एक ही महोल्ला में रहता था।

पायल और रिशव की घर बस 5 मिनिट की दुरी पर था। दोनों बचपन से ही बहुत ही अच्छे दोस्त थे और दोनों की परिवार माध्यम परिवार से था।

दोनों बचपन से ही एक स्कूल में पड़ते थे। बह दोनों की दोस्ती इतना गेहेरा था की बह दोनों स्कूल में एक साथ जाते थे और स्कूल से लोट ते बक्त एक ही साथ लोट ते थे।

दोनों में खेलना कूदना लड़ना झगरना ये तो रोज की बात थी। दोनों की परिवार के बिच भी अच्छे मेल था इसलिए दोनों की परिवार से उन दोनों की दोस्ती से कोई एतराज नहीं था।

अब दोनों प्राथमिक स्कूल से हाई स्कूल में एक ही साथ एक ही स्कूल में भर्ती हुआ। बह दोनों पढ़ाई लिखाई में भी बहुत अच्छे थे इसलिए बह दोनों ही अच्छे अंको से 10 बी क्लास पास कर लिया।

अब बह दोनों बड़े हो चुके थे। बुरा भला का समझ उन दोनों में आ चूका था। लेकिन उन दोनों के बिच सिर्फ एक अच्छी दोस्ती ही थी प्यार की सिलसिला अभी तक शुरू भी नहीं हुआ था।

जब बो दोनों 10 बी पास करने की बाद 12 बी में भर्ती हुआ तभी उन दोनों के साथ में उन्ही का क्लास में एक ऋषिकेश नाम का एक लड़का भर्ती हुआ।

ऋषिकेश थोड़ा आमिर परिवार का लड़का था। कुछ दिन जाने के बाद पायल और ऋषिकेश से थोड़ा बात चित करने लगा था।

लेकिन रिशव पेहेले पेहेले तो ज्यादा ध्यान नहीं दिया था लेकिन जब देखा की उन दोनों मिलना झूलना थोड़ा बाद गया तब से रिशव उन दोनों पर थोड़ा नजर रखने लगा।

देखा जाये तो रिशव ने पायल को मन ही मन में बहुत प्यार करता था लेकिन पायल उसे प्यार करता हे की नहीं बह रिशव को पाता नहीं था।

रुलाने वाली लव स्टोरी | Emotional Story in Hindi | भरोसा Part 1
रुलाने वाली लव स्टोरी

पायल और ऋषिकेश की जब रिशव एक साथ देखता था तब रिशव मन ही मन में जलता था। जलन तो होने ही बाला था क्यूंकि रिशव पायल से प्यार जो करता था।

इस दुनिया में कौन ऐसा हे जो आपने प्यार को दूसरे के देखना चाहता हे, कोई नहीं। बसे रिशव भी उनहीमो से एक था। रिशव को भी पायल और ऋषिकेश का मिलना जुलना बिलकुल पसंद नहीं था।

और ये बात पायल भी नोटिस की थी। क्यूंकि की पायल जब भी रिशव से बाते करने केलिए आते थे तब पायल को थोड़ा गुस्से से बाते करता था।

पायल को लगा की रिशव पेहेले की तरह नहीं हे कुछ बदला हुआ सा लग रहा हे। एकदिन पायल रिशव से पूछा, रिशव किया हुआ मुझसे तुम ठीक से बात नहीं कर रहे हो?

मेने कोई गलती कर दिया किया? रिशव ने कहा नहीं तो यासा कुछ भी नहीं। पायल ने कहा, नहीं नहीं में तुम्हे बचपन से बहुत अच्छी तरह से जान ती हु।

कुछ तो बात हे जो तुम मुझसे छुपा रहे हो। बोला ना बोलो ना किया बात हे? लेकिन उस दिन रिशव ने कुछ नहीं बताया। पायल ने ठान ली थी की कल रिशव से बुलबाकर ही रहूँगा की दरअसल बात किया हे।

अगले दिन जब बह दोनों स्कूल में आया तो सबसे पेहेले पायल ने रिशव को कहा, रिशव किया हुआ अभी तुम्हे बता ना पड़ेगा नहीं तो में क्लास नहीं करूँगा?

पायल ने बार बार कहने पर रिशव ने बता ही दिया की, तुम्हारा और ऋषिकेश का मिलना झूलना मुझे बिलकुल पसंद नहीं हे।

पायल ने पूछा क्यों? रिशव ने कहा, पाता नहीं मगर मुझे पसंद नहीं हे? पीएल ने कहा क्यों जलन हे? रिशव ने कहा जलन किस बात की लेकिन मुझे अच्छा नहीं लगता तो नहीं लगता।

पायल ने कहा रिशव, में और तुम बचपन से एक साथ बड़े हुए हे और हम दोनों एक दूसरे को बहुत ही अच्छी तरह से समझ ते भी और जानते भी हे।

तुम्हे किया लगता मेरी और ऋषिकेश के बिच कुछ चल रहा हे? रिशव ने कहा, मुझे कुछ पाता नहीं। लेकिन में किया चाहता हु मुझे किया पसंद हे, किया तुम्हे पाता हे? नहीं ना?

रुलाने वाली लव स्टोरी | Emotional Story in Hindi | भरोसा Part 1
रुलाने वाली लव स्टोरी

पायल ने रिशव जो भी बोलना हे साफ साफ कहो, ज्यादा घुमा फिर कर बात मत करो? रिशव ने कहा तो सुनो, में बचपन से ही तुमसे प्यार करता हु और में तुम्हे किसी के साथ देखता हु तो मुझे?

पायल ने हस्ते हुए कहा, बुद्धू में भी तुम्हे चाहती हु और तुमसे अच्छा हमसफ़र मुझे और कहा मिलेगा पागल। और रही ऋषिकेश के बात, बह सिर्फ मेरा एक दोस्त हे और कुछ भी नहीं।

में तो तुम्हारे अन्दर छुपी हुयी मेरी प्यार को देखना चाहता था की तुम मुझसे कितना प्यार करते हो। क्यूंकि मुझे पता हे की एक सच्चा प्यार करने बाला आशिक उसके प्यार को किसीके साथ देखना पसंद नहीं करता।

बह दोनों आपने प्यार को पा कर बहुत बहुत खुश थे। बचपन से ही बह दोनों अच्छे दोस्त अब दोनों की रिस्ता प्यार में बदल चूका था। उन दोनों की रिस्ता और भी गहरा हो चूका था।

अब पायल और रिशव की प्यार स्कूल से शुरू होकर कॉलेज तक पहुंच चूका था।पायल और रिशव एक दूसरे को बेपन्हा मोहब्बत करते थे।

पायल और रिशव दोनों ही कॉलेज में अच्छे से पास हो गया था। और कॉलेज से पास होते ही बह दोनों आपने खुशहाल जिंदगी को लेकर ढेर सारे सपने सजाये थे।

लेकिन उन दोनों को किया पता था की उन दोनों की खुशहाल जिंदगी के सपने के बिच एक भयानक तूफान आने बाला हे और ये तूफान दोनों की दिल को झकझोर देने बाला हे।

लेकिन सवाल हे की पायल और रिशव की जिंदगी में कौनसा तूफान आए थे जो दोनों की दिल में इतना गहरा चोट पहुंचा और दोनों अलग हो गए।

रिशव की प्यार की दुःख भरी दास्तान की दूसरा भाग और आगे की कहानी जानने केलिए निचे दिए हुए लिंक पर किक कीजे।

👉 रुलाने वाली लव स्टोरी | अधूरे प्यार की कहानी | भरोसा Part 2

निष्कर्ष

प्यार की रिश्ते एक ऐसा मधुर बंदन हे जो बिस्वास और भरोसे के ऊपर टिका रहता हे। क्यूंकि प्यार जबर दस्ती से नहीं किया जाता हे प्यार की रिश्ते दोनों की मन का इच्छा अनुसार होता हे।

लेकिन कुछ ऐसे इंसान होते हे जो प्यार की सही मतलब के बारे में पाता नहीं होता और बह प्यार में बिस्वासघात करने बैठता हे। और सामने बालो की दुःख की कारन बन जाता हे।

इसलिए दोस्तो, सच्चा प्यार की कदर करना सीखो क्यूंकि सच्चा प्यार सिर्फ नसीब बालों को ही मिलता हे। अगर आप भी नसीब बाला बनना चाहते ही तो अपने प्यार की कभी भी भरोसा मत तोड़ो।

आज की कहानी आपको केसा लगा कमेंट करके जरूर बताना और रुलाने वाली लव स्टोरी (Emotional Story in Hindi) की दूसरा भाग को पड़ने केलिए ऊपर में दिए हुए लिंक को जरूर क्लिक करे।

Emotional Story in Hindi FAQ

Q. दुनिया की सबसे प्रसिद्ध प्रेम कहानी कौन सी हे?

A. रोमिओ एंड जूलियट बिलियम शेक्सपियर की लिखी हुयी दुनिया की साहित्य में सबसे प्रसिद्ध प्रेम कहानिओं में से एक माना जाता हे।

Q. प्यार का सबसे अच्छा उदाहरन किया हे?

A. इस दुनिया की सबसे अच्छा उदाहरन हे आपने माता-पिता क्यूंकि अपने माता-पिता आपने बच्चे से बिना कोई स्वर्थ के आपने दिलों जान से प्यार करता हे।

Q. दुनिया में शुद्ध प्रेम किया हे?

A. इस दुनिया में सबसे शुद्ध प्रेम हम उसे ही कहते हे जो आपने दिलो जान से बिना कुछ मतबल और बिना कुछ स्वर्थ से प्यार करता हे।

Q. पबित्र प्रेम किया हे?

A. पबित्र प्रेम का मतलब हम एहि समझते हे की, जो इंसान दूसरे इंसान से कुछ प्राप्ति के उद्देश्य के बिना निस्वार्थ रूप से प्रेम को निभाता हे उसे ही हम पबित्र प्रेम कहलाता हे।

Q. प्यार यानि प्रेम से बड़कर इस दुनिया में और किया हे?

A. पूरी बिश्व ब्रमांड में प्यार से बड़कर और दूसरा कोई भी चीज नहीं हे।

ये भी पड़े

1/5 - (1 vote)

Leave a Comment